राष्ट्रीय स्तर की जिम्मेदारी निभाएंगे आदित्य भगत..नई जोश और जुनून के साथ आगे बड रहे आदित्य

रायपुर : आदित्य भगत को संघर्ष सहज व्यवहार और नेतृत्व क्षमता ने दिलाई नई पहचान। अब राष्ट्रीय स्तर की जिम्मेदारी निभाएंगे आदित्य भगत, वे छोटी उम्र में बड़ी जिम्मेदारी निभाने वाले युवा कांग्रेश नेता हैं। एनएसयूआई(NSUI) छत्तीसगढ़ का राष्ट्रीय सोशल मीडिया अध्यक्ष के पद पर नियुक्त किया गया है। आदिवासी समुदाय के पार्वतीपुर के मध्यमवर्ग से नाता है आदित्य भगत बहुत ही सरल और सहज स्वभाव के जमीनी संघर्ष करते हुए पले बढ़े हैं वे मंत्री पुत्र होते हुए भी  उनके व्यवहार सहज और सरलता है।

आदित्य भगत दिल्ली  से सीधे रायपुर पहुंचेंगे, जिनकी प्रथम आगमन आज हो रहा है, वे नई जोश जुनून के साथ आगे बढ़ रहे है। उनकी भव्य स्वागत एयरपोर्ट में की जाएगी एनएसयूआई के मेंबर और कांग्रेसी नेता कार्यकर्ता पहुंचेंगे उनकी प्रथम आगमन रायपुर में एयरपोर्ट में भव्य स्वागत किया जाएगा।

आदित्य भगत छत्तीसगढ़ प्रदेश के एक युवा नेता हैं Corona काल में भी आदित्य भगत के कदम नहीं रुके जरूरतमंदों तक सहायता पहुंचाई। भटक रहे मजदूरों और छात्रों के लिए एनएसयूआई किचन का आयोजन किया और उनकी सहायता के लिए टोल फ्री नंबर उपलब्ध करवाएं। Corona काल में मजदूरों की परेशानी को समझा, पुलिसकर्मियों की ड्यूटी दौरान चाय नाश्ता की व्यवस्था कराई ,लोगों को मुफ्त मास्क, अनाज बांटे हैं, उन्होंने जरूरतमंदों के साथ हमेशा साथ खड़ा रहा और सबसे कम उम्र में इन्होंने अपनी पहचान बनाई है। खुद को ऐसे छात्रों युवाओं के प्रति संकल्पित पाते हैं जो शिक्षा और देश की मुख्यधारा में शामिल हो पाने के अवसरों से दूर है। वह सदा ऐसे युवाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित और सहायता करना चाहते हैं।

उनकी सोशल मीडिया में भी अच्छी और  मजबूती से पकड़ है, सोशल मीडिया में भी प्रमुखता से मौजूद रहे हैं। देश प्रदेश में जनता किसान मजदूर और छात्रों के मुद्दे वे लगातार उठाते रहे हैं। यही कारण है कि सोशल मीडिया पर अब उनकी ऐसी पकड़ ही उनके नए पदभार का रास्ता बनाई है।

आदित्य भगत का शुरू से ही किसानों के प्रति प्रेम रहा है , किसानों की लड़ाई केंद्र सरकार से लड़ रहे हैं और किसानों द्वारा किए जा रहे आंदोलन को मजबूती देने में लगे हैं ,वे कहते हैं कि किसानों के हित के लिए आदित्य भगत हमेशा खड़े रहेंगे।

आदित्य भगत आदिवासी समाजों के हकों और सशक्तिकरण पर जमीनी स्तर पर काम किए हैं और शिक्षा जमीनों की मुद्दे पर उन्होंने जागरूकता का प्रसार किया अंतरराष्ट्रीय स्तर पर indo-japan फाउंडेशन के तहत उन्होंने आदिवासियों के बेहतरीन हेतु वैकल्पिक विकास का अभिनव मॉडल पर भी काम प्रारंभ किए जिसमें आदिवासियों की जल जंगल जमीन के संरक्षण को प्रमुखता दी है।

आदित्य भगत शहीद भगत सिंह के विचारधारा से प्रभावित हैं वे कहते हैं कि  कांग्रेस नेता राहुल गांधी , छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अपने पिता अमरजीत भगत को आदर्श मानते हैं।

एनएसयूआई का राष्ट्रीय सोशल मीडिया अध्यक्ष का पदभार पर नियुक्त किया गया है आदित्य भगत को आज हुए रायपुर पहुंच रहे हैं एयरपोर्ट में उनके भव्य स्वागत किया जाएगा उसके बाद आध्या मंदिर VIP रोड पर भी स्वागत की जाएगी उसके बाद रायपुर के अन्य चौंक चौराहों पर कार्यकर्ताओं  द्वारा भव्य स्वागत किया जाएगा राजीव भवन में आदित्य भगत की भव्य स्वागत की जाएगी, उसके बाद आज दोपहर में प्रेस कॉन्फ्रेंस होगी ।

Tags

cg news smartthink.in

Related Articles

36999.jpg

More News