भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने कहा- टूलकिट मामले उच्च न्यायालय के आदेश के विरुद्ध प्रदेश सरकार की अपील सुनने से सुप्रीम कोर्ट का इंकार सत्य और न्याय की जीत

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कांग्रेस टूलकिट मामले में भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के ख़िलाफ़ दर्ज़ एफ़आईआर के परिप्रेक्ष्य में सुप्रीम कोर्ट द्वारा राज्य के उच्च न्यायालय के टूलकिट मामले की जाँच रोके जाने के आदेश के विरुद्ध प्रदेश सरकार की अपील सुनने से इंकार किए जाने पर इसे सत्य और न्याय की जीत बताया है। साय ने कहा कि राजनीतिक प्रतिशोध में अंधी हो चली प्रदेश सरकार को अब तो अपने ओछे राजनीतिक हथकंडों पर शर्म महसूस करनी चाहिए। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस फ़ैसले के बाद लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की आज़ादी की दुहाई देने वाली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल में यदि ज़रा भी ग़ैरत बाकी हो तो उन्हें भाजपा नेताओं के साथ-साथ पूरे देश-प्रदेश से नि:शर्त क्षमायाचना करनी चाहिए। अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ खड़ी रहने वाली कांग्रेस की राजनीतिक चरित्र ही रहा है कि वह अपने ख़िलाफ़ उठने वाली हर आवाज़ को कुचलने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ती। श्री साय ने कहा कि न्यायालय के निर्णय का सम्मान करना कांग्रेस के डीएनए में ही नहीं है। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार देश की संभवत: पहली ऐसी सरकार होगी जिसने अपने लगभग पौने तीन साल के कार्यकाल में राजनीतिक नज़रिए से लिए गए अमूमन सभी फ़ैसलों के लिए हाई कोर्ट से हर फ़टकार खाई है, बावज़ूद इसके, यह सरकार न तो अपनी ओछी राजनीति और हरक़तों से बाज आ रही है और न ही न्यायालय के फ़ैसले का सम्मान करती है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष साय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा हाई कोर्ट के आदेश के विरुद्ध प्रदेश सरकार की अपील सुनने से इंकार किए जाने के बाद इस सरकार को अपनी वैचारिक दरिद्रता और राजनीतिक व प्रशासनिक अक्षमता स्वीकार कर सम्मानपूर्वक सत्ता से अलग हो ही जाना चाहिए, अन्यथा किसी शाम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और सांसद राहुल गांधी मुख्यमंत्री बघेल को ‘आई एम सॉरी’ कहकर बेआबरू करके सत्ता के गलियारे से चलता न कर दें। साय ने कहा कि प्रदेश के लोकतांत्रिक इतिहास की यह सबसे शर्मनाक स्थिति है कि प्रदेश सरकार ने राजनीतिक विद्वेष और प्रतिशोध भंजाने की बदनीयती का प्रदर्शन करते हुए भाजपा नेताओं के ख़िलाफ़ पूरे पुलिस तंत्र को झोंक रखा है, लेकिन न्यायालयों में सत्य और न्याय की ही जीत हुई है। श्री साय ने कहा कि भाजपा नेता जो भी बात कहते हैं, उनमें सत्य और तथ्य, दोनों होते हैं।

Tags

cg news smartthink.in

Related Articles

36999.jpg

More News