कांग्रेस के नेता पॉलिटिकल हिप्पोक्रेसी का प्रदर्शन कर रहे हैं : सरोज पाण्डेय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री और सांसद सरोज पाण्डेय ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस महाचिव अजय माकन के उस कथन को झूठा बताया है, जिसमें कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर देश की सम्पत्तियों को बेचने की बात कही है। पाण्डेय ने कहा कि कांग्रेस के नेता झूठ परोसकर देश को ग़ुमराह करने में लगे हैं। दरअसल केंद्र की मौज़ूदा सरकार के फैसलों से सरकार के ख़जाने में 06 लाख करोड़ रुपए आ रहे हैं जो देश के सर्वांगीण विकास और देश की आत्मनिर्भरता के काम आएंगे। यह बात ही राहुल गांधी समेत कांग्रेस नेताओं को हज़म नहीं हो रही है। भाजपा नेत्री पाण्डेय ने कहा कि कांग्रेस नेताओं की विश्वसनीयतो ख़त्म हो चुकी है। राफेल सौदे को लेकर सुप्रीम कोर्ट में राहुल गांधी के माफ़ीनामे ने यह प्रमाणित कर दिया है कि कांग्रेस पूरी तरह झूठ की फैक्ट्री होकर रह गई है। देश के तमाम गंभीर मुद्दों पर तर्कसंगत बातचीत करने से भागने वाले एक ख़ानदान का झूठ देशभर में फैलाते रहना ही कांग्रेस नेताओं की अब नियति रह गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोग पहले देश को यह बताएँ कि मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे का 8 हज़ार करोड़ रुपए का जो मोनेटाइजेशन कांग्रेस गठबंधन के शासनकाल में किया गया, क्या राहुल गांधी और कांग्रेस नेता यह मानते हैं कि सरकार ने तब एक्सप्रेस वे बेच दिया था? इसी तरह सन 2008 में कांग्रेस गठबंधन की सरकार के शासनकाल में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के संदर्भ में एक आरएफपी घोषित हुआ। तो क्या राहुल गांधी और पूर्व मंत्री माकन समेत झूठ फैलाते तमाम कांग्रेस यह मानते हैं कि जिस सरकार की मुखिया तब सोनिया गांधी हुआ करती थीं, वह सरकार देश और देश की सम्पत्ति बेचने का दुस्साहस कर रही थी? इससे पहले सन 2006 में एयरपोर्ट के निजीकरण की शुरुआत भी कांग्रेस गठबंधन की केंद्र सरकार ने की थी।उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव माकन इस बात का जवाब दें कि क्या कांग्रेस सरकार ने रोड, रेल और एयरपोर्ट बेच डाला? उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता पोलिटिकल हिप्पोक्रेसी का प्रदर्शन कर रहे हैं। सुश्री पाण्डेय ने कहा कि पारदर्शिता के साथ केंद्र की जिस मौज़ूदा भाजपा सरकार ने देश की तिजोरी को भरने का काम किया है और कांग्रेस के लुटेरों से देश के ख़जाने को सुरक्षित किया है, उस सरकार के ख़िलाफ़ कांग्रेस के नेता अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। भाजपा नेत्री ने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्र सरकार की ओर से यह स्पष्ट किया है कि केंद्र सरकार अपनी ओनरशिप को रीटेन करेगी, मोनेटाइजेशन की प्रक्रिया में सरकार की ओनरशिप में बदलाव नहीं होगा। उन्होंने सवाल किया कि क्या पूर्व मंत्री माकन यह मानते हैं कि कांग्रेसशासित राज्यों में हो रहे मोनेटाइजेशन से अपने-अपने राज्यों को बेचने का काम कर रहे हैं? कांग्रेस के नेताओं को एक परिवार की ग़ुलामी की मानसिकता से उबरकर देश के बारे में पहले सोचना चाहिए और पहले अपना गिरेबाँ झाँक लेना चाहिए।

Tags

cg news smartthink.in

Related Articles

36999.jpg

More News